हैदराबाद की ये सच्ची घटना आपके होश उड़ा देगी, जानिए विस्तार से - Bhartiyaweb

हैदराबाद की ये सच्ची घटना आपके होश उड़ा देगी, जानिए विस्तार से

क्या भूत होते हैं? ये सवाल ना जाने कितने लोगों के मन मे है लेकिन इसका आज तक कोई सीधा जवाब नही मिल पाया है। कुछ लोग भूतों पर विश्वास करते हैं और कुछ लोग मानते हैं की भूत नही होते। लेकिन दोस्तों अक्सर ऐसी घटनाएँ होती रहती हैं जिनसे हमे किसी और दुनिया की मौजूदगी का एहसास होता है। आज हम आपको एक ऐसी घटना विस्तार से बताने वाले हैं।

दोस्तों हैदराबाद के बेगंपेट इलाक़े मे कुन्दन्बाघ नाम की सोसाइटी है। इस सोसाइटी मे एक घर है जिसमे माँ-बाप अपनी दो बेटियों के साथ रहते थे। माँ का नाम जयाप्रदा था, पिता उस घर को छोड़कर अचानक चले गये और उस दिन के बाद वो कभी नज़र नही आए। आस पड़ोस के लोगों की मानें तो वो लोग कुछ अजीब थे, उस घर मे कोई नही जाता था, ना ही उस घर मे टीवी केबल था ना ही दूध वाला या न्यूसपेपर वाला जाता था। जयाप्रदा अपनी दोनो बेटियों के साथ कार मे बैठकर कचरा फेकने जाया करती थी, जो उनके घर के ठीक पास मे ही था। लेकिन रात होते ही वो तीनो कुछ ऐसा करती थी जिसे देखकर लोग उन्हे पागल समझने लगे थे।दोस्तों रात होते ही जयाप्रदा अपनी दोनो बेटियों के साथ अपने घर के चक्कर लगाती थी, चक्कर लगाते समय उनके हाथ मे खून से भारी हुई बोतल और दूरे हाथ मे जलती हुई मोमबत्ती होती थी। अगर कोई उनके रास्ते मे आता था तो जयाप्रदा उसे गालियाँ देकर भगा देती थी। ये सब बहुत दिनों से चल रहा था तभी कुछ ऐसा हुआ जिससे सबके होश उड़ गये।

एक दिन एक चोर उस मकान मे घुसा, पकड़े जाने पर उसने पुलिस को उस घर की हालत बताई, पुलिस जब घर मे घुसी तो उन्हे वहाँ तीनो की लाश मिली, घर बाहर से सुंदर था लेकिन अंदर से उधड़ा हुआ था। तीनो लाश की जाँच करने पर पता लगा की उन्हे मरे हुए 6 महीने हो चुके थे। हैरानी की बात यह है की अगर वो तीनो मार चुकी थी तो रात मे कौन चक्कर लगाता था, कौन कचरा फेकने जाता था, सारे सोसाइटी वालों को कौन दिखाई दे रहा था। ये सवाल आज भी अनसुलझे हैं। ये खबर 2002 मे एक अख़बार मे भी छपी थी। अब उस घर को बंद कर दिया गया है लेकिन उसके सामने की सड़क से लोग गुज़रते हैं।

दोस्तों इस घटना के बारे मे आपका क्या सोचना है, अपनी राय कॉमेंट मे ज़रूर बताइए। इस तरह की रहस्यमयी घटनाएँ जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *