महालक्ष्मी मंदिर -15 हज़ार किलो सोने से बना है ये मंदिर - Bhartiyaweb

महालक्ष्मी मंदिर -15 हज़ार किलो सोने से बना है ये मंदिर

दोस्तों आपने आज तक इतना सोना कभी एक साथ नही देखा होगा, दुनिया भर मे बहुत से ऐसे मंदिर हैं जहाँ सोने की परत चढ़ाई गई है लेकिन आपने कभी ऐसे मंदिर के बारे मे नही सुना होगा जो सच मे पूरा सोने का बना हो। आज हम आपको महालक्ष्मी मंदिर के बारे मे बताने जा रहे हैं जो किसी स्वर्ग से कम नही है।

महालक्ष्मी मंदिर

महालक्ष्मी मंदिर -15 हज़ार किलो सोने से बना है ये मंदिर

दोस्तों हम बात कर रहे हैं तमिलनाडु के वैल्लोर जिले के महालक्ष्मी मंदिर की, ये मंदिर बेहद खूबसूरत है और इसे बनाने मे 15 हज़ार किलो सोने का स्तेमाल किया गया है जिसकी कीमत उस समय 300 करोड़ रुपय थी।इस मंदिर को देखते ही सच मे आपकी आँखें चौंधिया जाती हैं, इस मंदिर के सामने एक तालाब है जिसमे दुनिया भर की मुख्य नदियों का पानी आता है इसीलिए इसे सर्व तीर्थम सरोवर का नाम दिया गया है।दोस्तों इस मंदिर को अपनी आँखों से देखने वालों का कहना है की जब रात होती है और चाँद की चाँदनी इसके ऊपर पड़ती है तब ये मंदिर एक अनोखी रोशनी से जगमगाने लगता है और इसकी खूबसूरती का कोई हिसाब नही रहता। ये दुनिया का एक मात्र मंदिर है जिसे बनाने मे इतने सोने का स्तेमाल किया गया हो। ये मंदिर सौ एकड़ मे फैला हुआ है इसके चारो तरफ हरियाली है जिसकी वजह से इसकी शोभा और भी बढ़ जाती है।यहाँ लाखों श्रद्धालु आते रहते हैं, इस मंदिर के आस पास घूमना भी अपने आप मे एक बहतरीन अनुभव है, यहाँ आने के बाद आपको अंदर से एक अजीब सी शांति का अनुभव होता है जिसे शब्दों मे नही समझाया जा सकता। रत होते ही मंदिर मे लाइट जलाई जाती हैं, आप दर्शन करके मंदिर के पास बैठकर मंदिर की खूबसूरती का लुफ्त उठा सकते हैं, अगर आप कभी इस मंदिर मे दर्शन करने जाएँ तो मेरी एक सलाह ज़रूर मानीएगा, हो सके तो अपने दिमाग़ को शांत और वर्तमान मे रखने की कोशिश कीजिएगा, मंदिर मे जाकर अपनी जिंदगी के बीते समय या फिर आने वेल समय के बारे मे मत सोचिएगा, अगर आप वर्तमान मे रहकर इस मंदिर के दर्शन कर पाएँ तो आपका अनुभव निश्चित ही यादगार होगा।

दोस्तों उमीद है आपको इस मंदिर के बारे मे जानकार अच्छा लगा होगा अपनी राय कॉमेंट मे ज़रूर दीजिए, और जुड़े रहिए हमारे साथ क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

और पढ़ें – निधिवन, जहाँ आज भी आते हैं कृष्ण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *