मगरमच्छ करता है इस मंदिर की रक्षा - केरला का चमत्कारी मंदिर - Bhartiyaweb

मगरमच्छ करता है इस मंदिर की रक्षा – केरला का चमत्कारी मंदिर

मगरमच्छ करता है इस मंदिर की रक्षा – केरला का चमत्कारी मंदिर

दोस्तों भारत एक ऐसा देश है जो अपने आप मे ना जाने कितने रहस्यों को समेटे हुए है। यहाँ पर ऐसे -ऐसे रहस्य हैं जो आज तक सुलझ नही पाए। विज्ञान के इस दौर मे भी लोगों की मान्यताएँ जीत जाती हैं और हमे कुछ भी समझ नही आता। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के रहस्य के बारे मे बताने जा रहे हैं जहाँ एक  मगरमच्छ करता है इस मंदिर की रक्षा और पूरी तरह शाकाहारी हो चुका है।

मगरमच्छ करता है इस मंदिर की रक्षा

दोस्तों हम बात कर रहे हैं केरला के अनंतपुरा लेक मंदिर की, ये मंदिर झील के बीचो बीच स्थित है। इस झील मे एक विशालकाय मगरमच्छ रहता है, दोस्तों सबसे बड़ी आश्चर्य की बात तो यह है की ये मगरमच्छ शाकाहारी है। ये खाने मे भक्तों द्वारा चढ़ाया गया प्रसाद और गुड़ ख़ाता है।दोस्तों यहाँ के लोगों का कहना है की ये मगरमच्छ इस मंदिर की रक्षा करता है और आज तक इसने मंदिर मे आने वाले किसी भी भक्त को नुकसान नही पहुँचाया और ना ही किसी को डराया है। आस पास के लोगों का कहना है इस मगरमच्छ का नाम बाबिया है। दोस्तों ये मगरमच्छ इस झील मे कब आया और कैसे आया ये किसी को पता नही लेकिन लोगों का ऐसा मानना है की नौवि शताब्दी मे मंदिर के निर्माण के बाद यहाँ अचानक ही ये मगरमच्छ प्रकट हो गया।दोस्तों मंदिर के पुजारी का कहना है की दूर – दूर से लोग इस मंदिर के साथ साथ इस मगरमच्छ के भी दर्शन करने आते हैं क्योंकि ये उनके आस्था का प्रतीक है। दोस्तों इस मगरमच्छ के यहाँ होने के पीछे एक कहानी भी प्रचिलित है। कहा जाता है की एक बार भगवान विष्णु के परम भक्त श्री विल्लाबा मग्न होकर इस क्षेत्र मे भजन गा रहे थे और उन्हे बाल रूपी कृष्ण बार-बार तंग कर रहे थे जिसकी वजह से वो झील मे गिर पड़े, लोगों का मानना है की ये मगरमच्छ और कोई नही श्री विल्लाबा ही हैं।

यही वजह है की बाबिया के प्रति लोगों की श्रद्धा होती है, लेकिन दोस्तों इस कहानी का कोई प्रमाण नही है। दोस्तों मगरमच्छ का शाकाहारी हो जाना और किसी को नुकसान ना पहुँचना अपने आप मे हैरत की बात है। दोस्तों आपको क्या लगता है, क्या कोई मगरमच्छ दिव्य हो सकता है, क्या वो बिना किसी को नुकसान पहुँचाए रह सकता है। दोस्तों पोस्ट को शेयर कीजिए और जुड़े रहिए हमारे साथ क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

ये भी पढ़िए – भारत का एक ऐसा कुंड जिससे डिस्कवरी वेल भी हैरान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *