भारत के धर्म गुरु, योगी या भोगी? - Bhartiyaweb

भारत के धर्म गुरु, योगी या भोगी?

भारत देश भक्तों का देश है, यहाँ हर इंसान को ईश्वर और मोक्ष की चाहत होती है। ईश्वर को ढूँढते हुए कई बार भक्त ग़लत राह मे चले जाते हैं जहाँ उनका पूरा शोषण किया जाता है। हिन्दुस्तान मे हर तरह के गुरु देखने को मिल जाते हैं, लोग इन्हे ईश्वर पुत्र समझते हैं। भारत हमेशा से ही पवित्र भूमि मानी जाती है, क्योंकि यहाँ सच मे ऐसे गुरु रहे हैं जिन्होने सारी दुनिया का उद्धार किया है। लेकिन कुछ गुरु देश की भोली जनता के विश्वास का नाजायज़ लाभ भी उठाते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही गुरुओं के बारे मे बताएँगे जिनका संबंध दूर दूर तक भगवान से नही है।

1. गुरमीत राम रहीम – 15 अगस्त 1967 को जन्मे राम रहीम गायक हैं, गाने लिखते हैं, अदाकार हैं और गुरु हैं। ये अपने नाम के आगे इंसान शब्द का प्रयोग करते हैं लेकिन शायद इनकी हरकतें इंसानों वाली नही हैं।इनकी संस्था का नाम डेरा सच्चा सौदा है, इनके पास बेशुमार दौलत है। राम रहीम पर कई आरोप लगाए जा चुके हैं, सन 2002 मे डेरा मे काम करने वाली एक साध्वी ने इनके ऊपर बलात्कार का आरोप लगाया था, इनके ऊपर सिक्ख धर्म का अपमान करने के आरोप भी लगे हैं। हाल ही मे 28 अगस्त 2017 को सी बी आई कोर्ट ने राम रहीम को 20 साल की सज़ा सुनाई है।

2. राधे माँ – इनका जन्म पंजाब के गुरदासपुर जिले के दोरंगला गाँव मे हुआ था, इनके भक्तों का मानना है की राधे माँ बचपन से इनका झुकाव आध्यात्म की ओर था, ये अपने गाँव के काली मंदिर मे अपना ज़्यादा तर समय बिताया करती थी। लेकिन इनके गाँव वालों का कहना है की ऐसा कुछ भी नही था, राधे माँ ने 4 कक्षा तक पढ़ाई की और 17 साल की उम्र मे इनकी शादी हो गई। ये पहले कपड़े मे टांका लगाने का कम किया करती थी, इनके पति काम की तलाश मे क़तर चले गये तब ये अध्यात्म की तरफ आकर्षित हुई, और इन्होने खुदको देवी कहना शुरू कर दिया। राधे माँ मुंबई के बोरीवली मे रहती हैं। सन 2015 मे मुंबई की निक्की गुप्ता ने राधे माँ के ऊपर मुक़दमा दायर किया था, निक्की का कहना था की राधे माँ निक्की के ससुराल वालों के साथ मिलकर उन्हे दहेज के लिए प्रताड़ित करती हैं। इनके ऊपर अभद्रता के आरोप भी हैं, इनके भक्त इन्हे गोद मे उठाते हैं और सूत्रों की मानें तो राधे माँ युवकों को आकर्षित भी करती हैं।

3. असाराम बापू – 17 अप्रेल 1947 मे जन्मे असाराम बापू के 400 आश्रम और 2000 ध्यान केंद्र हैं। असाराम के ऊपर कत्ल और बलात्कार के आरोप लगाए गये हैं, अगस्त 2013 मे असाराम के ऊपर एक 16 साल की लड़की के साथ अभद्रता करने आ आरोप लगा, लड़की के माँ बाप ने दिल्ली पुलिस मे कंप्लेन की और मेडिकल जाँच की माँग की जब असाराम जाँच के लिए नही पहुँचे तब पुलिस ने उन्हे सितंबर 2013 मे जैल मे बंद कर दिया।

दोस्तों ऐसे ना जाने कितने लोग हैं जो खुद को धर्म गुरु कहते हैं और हमारा शोषण करते हैं, इस लेख को लिखने का मुख्य कारण आपको सचेत करना है। निश्चित ही भारत अध्यात्म का देश है और हमे अपने धर्म का पालन करना चाहिए लेकिन ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए जो आपके अध्यात्म का लाभ उठाते हैं। भारत मे ढोंगियों के अलावा बहुत अच्छे गुरु रहे हैं और आज भी हैं जो देश की भलाई के लिए कार्य करते हैं। आपकी राय हमारे लिए बहुमूल्य है कृपया कॉमेंट मे अपनी राय ज़रूर दीजिए और जुड़े रहिए हमारे साथ क्योंकि ये है आपकी अपनी भारतीय वेबसाइट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *