नागमणि के रहस्य और कुछ रोचक बातें - Bhartiyaweb

नागमणि के रहस्य और कुछ रोचक बातें

दोस्तों नागमणि को लेकर हमारे मन मे कई विचार आते हैं, अलग अलग लोग इसके बारे मे अलग अलग बातें करते हैं। हमने इसके बारे मे खोज करने की सोची, आख़िर नागमणि का ख़याल आया कहाँ से है और इसके बारे मे बताई गई बातें क्या सच हैं। आज हम आपको नागमणि के रहस्य और कुछ रोचक बातें बताने जा रहे हैं।

नागमणि के रहस्य और कुछ रोचक बातें

दोस्तों हमारे भारत मे बहुत सारे ग्रंथ है जिनमे हर बात का जवाब है। हमे एक ऐसी ही किताब मिली जिसका नाम वृहत्ससंह‌िता है। दोस्तों वृहत्ससंह‌िता से ही नागमणि के बारे मे जानकारी मिलती है और यही उसका मुख्य स्रोत है। दोस्तों वृहत्ससंह‌िता के अनुसार नागमणि को शेषनाग धारण करते हैं। इसके अनुसार धरती पर मणिधारी नाग मौजूद हैं, इनका दिखना बहुत ही दुर्लभ होता है इसीलिए लोगों को लगता है की वो नही हैं। भारतीय पौराणिक और लोक कथाओं मे नागमणि के किससे प्रचिलित हैं। नागमणि सिर्फ़ नागों के पास होती है, वो इसका स्तेमाल अपने भोजन के लिए करते हैं, नाग इसे रात के अंधेरे मे बाहर निकलते हैं और इसकी रोशनी मे इकट्ठे हुए कीड़ों को अपना भोजन बनाते हैं। नागमणि का रहस्य आज भी अनसुलझा है, हम लोगों ने ऐसी कई कहानियाँ सुनी हैं जहाँ लोगों ने मणिधारी नाग को अपनी आँखों से देखा है। हमारे पुराणों मे भी ऐसे कई वर्णन मिलते हैं, एक बार तो स्वयं कृष्ण का सामना ऐसे एक मणिधारी नाग से हुआ था। दोस्तों वृहत्ससंह‌िता के अनुसार नागमणि की अपनी रोशनी होती है वो रोशनी के किसी स्रोत पर निर्भर नही होती। जब अंधेरे मे नागमणि को रखा जाता है तो उसकी रोशनी हमारी आँखें बंद भी कर सकती हैं। नागमणि का रंग मोर के कंठ और आग से मिलता जुलता होता है। अग्नि की तरह चमकदार और मोर कंठ की तरह नीला। यह मानी जिसके पास होती है उसपर विष का प्रभाव नही होता और उसका शरीर सदा स्वस्थ रहता है। इतना ही नही जिस राजा के पास भी नागमणि रही है वो सदेव जीते हैं कभी हारे नही। इनके राज्य मे प्रजा हमेशा खुश रही है।

दोस्तों नागमणि के बारे मे जितनी जानकारी थी हमने आपको दी, अगर आपने नागमणि से संबंधित कुछ भी सुना हो तो कॉमेंट मे ज़रूर बताइए और हमारे साथ जुड़े रहिए क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

और पढ़ें – भारत के हॉंटेड रास्ते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *