टाइटैनिक का रहस्य - टाइटैनिक डूबेगा ये पहले ही लिखा जा चुका था - Bhartiyaweb

टाइटैनिक का रहस्य – टाइटैनिक डूबेगा ये पहले ही लिखा जा चुका था

आज हम जानेंगे टाइटैनिक का रहस्य जिसके बारे मे शायद पहले ही लिखा जा चुका था।कहते हैं की इंसान का जीवन काल पहले से ही निर्धारित होता है, अगर किसी का जन्म हुआ है तो उसकी मृत्यु अवश्य होगी, आस्तिक लोगों का मानना है की मृत्यु भी पहले से ही निर्धारित होती है और नास्तिक लोग इन बातों पर विश्वास नही करते।

टाइटैनिक का रहस्य

दोस्तों सन 1898 मे एक उपन्यास लिखा गया था जिसका नाम ‘रेक ऑफ दी टाइटन’ है। कल्पनाओं के आधार पर मॉर्गन रॉबर्टसन ने यह उपन्यास लिखा। ये उपन्यास एक जहाज़ के बारे मे है, इसमे बताया गया है की टाइटन नाम का ये जहाज़ कभी ना डूब सकने वाला मानव निर्मित जहाज़ है और इसमे सभी सुविधाएँ हैं।

दोस्तों हैरानी की बात तो यह है की ठीक 14 साल बाद उपन्यास मे लिखे टाइटन जहाज़ का हूबहूब टाइटैनिक जहाज़ असल जिंदगी मे आता है और उत्तरी अट्लॅंटिक महासागर मे बर्फ की एक चट्टान से टकराकर डूब जाता है, जिसकी बनावट से लेकर आलीशान होटेल, लाइफ बोट, और कभी ना डूबने वाले जहाज़ का दावा जैसी बातें 14 साल पहले लिखे गये उपन्यास से मिलती हैं। आकार और लंबाई मे लगभग एक बराबर दोनो जहाज़ अप्रैल के महीने मे आधी रात को ही डूबे और इन दोनो घटनाओं मे मरने वालों की संख्या लगभग एक बराबर ही रही।

इन काल्पनिक घटनाओं को सच मे होता देख रॉबर्टसन ने वो उपन्यास दोबारा प्रकाशित करवाया और उसे पढ़कर लोग हैरान रह गये की किसी हादसे की इतनी सटीक जानकारी 14 साल पहले कैसे लिखी जा सकती है। टाइटैनिक दुनिया का सबसे बड़ा जहाज़ था जिसमे ना जाने कितने लोगों की मृत्यु हुई, इतनी बड़ी घटना को समय से पहले कैसे लिख दिया गया इसका जवाब तो खुद रॉबर्टसन के पास भी नही था।

दोस्तों आपको क्या लगता है, क्या ऐसा हो सकता है की किसी घटने वाली घटना की जानकारी हमे पहले ही मिल जाए? या फिर यह सिर्फ़ एक इत्तेफ़ाक था। अगर किसी घटना की जानकारी पहले मिल सकती है तो दुनिया मे बड़ी बड़ी आपदाओं से बचा जा सकता है। अपनी राय कॉमेंट मे ज़रूर दीजिए और जुड़े रहिए हमारे साथ क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

और पढ़ें – भारत मे हुई समय यात्रा की घटनाएँ

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *