चमत्कारी कुंड - जिससे डिस्कवरी वाले भी हैं हैरान - Bhartiyaweb

चमत्कारी कुंड – जिससे डिस्कवरी वाले भी हैं हैरान

चमत्कारी कुंड – जिससे डिस्कवरी वाले भी हैं हैरान

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे रहस्यमयी कुंड के बारे मे बताने जा रहे हैं, जिसके कुछ राज कोई नही समझ पाया है। इस कुंड के बारे मे माना जाता है की ये किसी भी आपदा का संकेत देता है। इसकी गहराई का अंदाज़ा भी नही लगाया जा सका है। जानिए इस चमत्कारी कुंड के बारे मे विस्तार से।

चमत्कारी

चमत्कारी कुंड

इस चमत्कारी कुंड का नाम भीम कुंड है।ये कुंड मध्य प्रदेश के छतरपुर से 70 किलोमीटर दूर मांजरा गाँव मे स्थित है। इस कुंड की उत्पत्ति की कहानी कुछ ऐसी है की, जब पाँच पांडव वनवास के लिए जंगलों मे भटक रहे थे तो इस स्थान मे आकर द्रौपदी को प्यास लगी, भीम ने अपनी गदा से एक पहाड़ पर प्रहार किया तो वो नीचे धस गया और वहाँ पानी की धार निकल आई, उस पानी को पीकर द्रौपदी और पांडवों ने अपनी प्यास बुझाई थी। इसी वजह से इस कुंड का नाम भीम कुंड पद गया।

जब इस कुंड पर सूर्य की रोशनी सीधे पड़ती है तो इसका पानी एक दम पारदर्शी हो जाता है, इस कुंड के पानी का रंग नीला दिखाई देता है और यह एक दम सॉफ रहता है। यहाँ आने वाले लोग इसमे दुपकी लगते हैं और इसके पानी को पीते भी हैं। इस कुंड की गहराई किसी को पता नही चली। दोस्तों कहा जाता है की जब भी कोई आपदा आने वाली होती है इस कुंड मे बड़ी बड़ी लहरें आ जाती हैं और जल स्तर बढ़ जाता है। दोस्तों सन 2004 मे जब सूनामी आई थी तब इस कुंड मे 15 मीटर उँची लहरें उठने लगी थी। दोस्तों डिस्कवरी चैनल ने यहाँ अपने गोताखोरों पानी के नीचे कई बार भेजा, लेकिन उन्हे इसकी गहराई का पता नही चला। उन्हे कई रहस्यमयी जीव दिखाई दिए और साथ मे उन्हे पानी के 80 मीटर नीचे दो कुंड दिखाई दिए, उनका कहना था की एक कुंड से पानी आता है और दूसरे कुंड मे चला जाता है लेकिन ये कुंड आपदा के समय संकेत कैसे देता है आज तक पता नही चला।

दोस्तों आपको पता होगा की अगर कोई पानी मे डूबकर मरता है तो उसका शरीर पानी के ऊपर आ जाता है।लेकिन दोस्तों इस कुंड मे जो भी आज तक डूबा है उसका शरीर कभी वापस नही आया। आशा है आपको ये जानकारी पसंद आई होगी, कॉमेंट मे अपनी राय दीजिए और अगर आपको भी ऐसी ही किसी रहस्यमयी जगह के बारे मे पता हो तो बताइए, पोस्ट को शेयर कीजिए और बने रहिए हमारे साथ क्योंकि ये है आपकी अपनी वेबसाइट।

और पढ़ें – ये हैं जिंदा भूत जिन्हे छूते ही हो जाती है मौत।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *